mpnewsflash.com
Politics / पॉलिटिक्स

मध्यप्रदेश में युवा नेतृत्व को लेकर कांग्रेस में खींचतान, दो दिग्गजों के बेटे आमने-सामने



मध्यप्रदेश कांग्रेस में चल रहा आपसी कलह और गुटबाजी का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा  है।  सरकार जाने के बाद भी कांग्रेस के नेताओ का भाजपा में जाने का सिलसिला अभी थमा ही नहीं था और अब पार्टी में युवा नेतृत्व को लेकर प्रदेश के दो दिग्गजों के बेटों के बीच सियासी खींचतान तेज हो गई है। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के बेटे और सांसद नकुल नाथ का मैं करूंगा युवा नेतृत्व बयान वाला वीडियो वायरल होने के बाद दूसरा खेमा भी मैदान में आ गया है। खास तौर पर राज्य के एक और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बेटे और पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह और नकुल नाथ के समर्थकों के बीच सियासी खींचतान का दौर शुरू हो गया है। यही नहीं पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी के समर्थक भी मैदान में आ गए है |  


दरअसल हाल ही में सोशल मीडिया पर सांसद नकुल नाथ का एक वीडियो वायरल हुआ है। इस वीडियो में नकुल नाथ कह रहे हैं कि आने वाले चुनाव में मैं युवाओं का नेतृत्व करूंगा। उन्होंने युवाओं का नेतृत्व करने में अपने साथ रहने वाले कुछ नेताओं के नाम भी गिनाए हैं। उनका कहना है कि पिछले मंत्रिमंडल कई युवा मंत्री शामिल थे। ऐसे युवा मंत्री मसलन जीतू पटवारी, हनी  बघेल, जयवर्धन सिंह, सचिन यादव और ओमकार मरकाम, ये सब आने वाले उपचुनाव में युवाओं का नेतृत्व करने में मेरा साथ देंगे। इस वीडियो के आने के बाद सियासी माहौल गरमा गया है और दोनों पूर्व मुख्यमंत्रियों के समर्थक गोलबंदी में जुट गए हैं।

इस मामले में भाजपा के प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने तंज कसते हुए कि कांग्रेस में युवराजों  का संघर्ष सबके सामने आ गया है। अब नकुल नाथ ने मध्य प्रदेश कांग्रेश पर अपना हक जता दिया है। उन्होंने दिग्विजय सिंह के बेटे की ओर इशारा करते हुए कहा कि जंग और तेज हो गई है।
 कुछ दिनों पहले ही जयवर्धन सिंह के समर्थकों ने उन्हें भावी मुख्यमंत्री बताते हुए होर्डिंग और बैनर लगा दिए थे। दूसरी और नकुल नाथ के समर्थक उन्हें मजबूत नेता बताने की कोशिश में जुटे हुए हैं। नकुल नाथ समर्थकों ने एक पोस्टर में जयवर्धन पर तंज कसते हुए कहा कि पोस्टर लगाने से कोई मुख्यमंत्री नहीं बन जाता।